About this website

Techcalculation एक हिंदी ब्लॉग है इस ब्लॉग पर आपको Computer, Internet, Mobile और अन्य सभी Technology के बारे में जानकारी हिंदी में मिलती है।

Computer meaning in Hindi | कम्प्यूटर का मतलब हिंदी में।

आज के समय में कम्प्यूटर हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है आज के समय में कम्प्यूटर का उपयोग हर क्षेत्र में किया जाता है पढ़ाई से ले कर कारोबार या फिर कोई सरकारी या गैर सरकारी विभाग की बात हो हर जगह कम्प्यूटर का उपयोग किया जाता है। आज कल हर क्षेत्र में कम्प्यूटर की अहम भूमिका है कम्प्यूटर कि मदद से घंटों का काम मिनटों में निपटाया जा सकता है और कम्प्यूटर से किए गए काम में ग़लती की आशंका भी नहीं रहती है। हालाँकि आज हमारे जीवन में कम्प्यूटर की अहम भूमिका है लेकिन कम्प्यूटर से जुड़ी कुछ ज़रूरी जानकारियाँ है जिनके बारे में बहुत काम लोगों को पता होता है जैसे कि कम्प्यूटर का हिंदी मतलब क्या है, computer meaning in hindi, कम्प्यूटर क्या होता है, कम्प्यूटर कितने प्रकार के होते है, कम्प्यूटर की full form क्या होती है ऐसे ही कई प्रश्न लोगों के मन में आते है पर आज इस पोस्ट में हम कम्प्यूटर से जुड़ी जानकारी दे रहे है

Computer meaning in Hindi- कम्प्यूटर का मतलब हिंदी में।

सबसे पहले जानते है कि कम्प्यूटर क्या होता है कम्प्यूटर का अर्थ (Computer meaning) क्या है कम्प्यूटर शब्द अंग्रेज़ी के “Compute” शब्द से मिलकर बना है यह एक Latin शब्द है। जिसका मतलब “गणना” करना होता है

इसीलिए Computer meaning hindi में गणक या संगणक होता है। पुराने समय में Computer का उपयोग सिर्फ चीजों की गणना करने के लिए किया जाता था पर बदलते समय के साथ-साथ टेक्नॉलोजी अपडेट होती गई और कम्प्यूटर और भी बेहतर होते गए और आज के समय में कम्प्यूटर का उपयोग गणना करने के साथ-साथ कई अन्य कामों को करने के लिए किया जाने लगा। आज हम कम्प्यूटर से Game खेल सकते है, Audio, Video और Photo Editing कर सकते है इसके अलावा Medical science, Research, Space जैसे सभी क्षेत्रों में कम्प्यूटर का उपयोग किया जाने लगा, अगर एक सरल भाषा में कहा जाए तो आज कम्प्यूटर हमारे लिए बहुत ज़रूरी हो गया है

 तो चलिए अब आपको पता चल गया कि कम्प्यूटर का मतलब हिंदी में Computer meaning in hindi में क्या होता है तो अब बात करते है कम्प्यूटर कि परिभाषा की।

Definition of computer- कम्प्यूटर की परिभाषा हिंदी में।

कम्प्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो उपयोगकर्ता द्वारा दिये गए इनपुट डेटा को प्रासेसिंग करके सूचनाओं को Result के रूप में आउटपुट प्रदान करता है अर्थात कम्प्यूटर एक ऐसा मशीन है जो उपयोगकर्ता द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करती है और निर्देशों के अनुसार और उसको प्रासेसिंग कर वांछित परिणाम (output) प्रदान करती है। इसका उपयोग गणना , प्रक्रिया, यंत्रिकी, अनुसंधान, शोध आदि क्षेत्रों में किया जाता है

computer ko Hindi mein kya kahate hain – कम्प्यूटर को हिंदी में क्या कहते है

कम्प्यूटर को हिंदी में संगणक या अभिकलित्र कहते है। कम्प्यूटर को संगणक इस लिए कहा जाता है क्यूँकि कम्प्यूटर का काम गणना करने के लिए किया जाता है और कम्प्यूटर एक प्रोग्राम करने योग्य मशीन है इस लिए इसे अभिकलित्र कहते है।

computer full form in hindi – कम्प्यूटर की full form

अगर देखा जाए तो तकनीकी रूप से Cmoputer की full form नहीं होती है लेकिन यह प्रश्न अक्सर पूछा जाता है कि Computer की फ़ुल फ़ॉर्म क्या है। computer की full form एक से ज़्यादा बनाई गई है कम्प्यूटर की कई सारी full forms हो सकती है पर उन सभी full forms में सबसे ज़्यादा popular full form यह है

Commonly Operated Machine Particularly Used for Technical and Education Research

C = Commonly – आम तौर पर

O = Operated – संचालित

M = Machine – मशीन

P = Particularly- विशेष रूप से

U = Used for – प्रयुक्त

T = Technical and – तकनीकी  और

E = Education – शैक्षणिक

R = Research – अनुसंधान

Other full forms of computer – कम्प्यूटर की अन्य फ़ुल फ़ॉर्म

  • 1- Commonly Operated Machine Particularly Used for Training Education and Research
  • 2- Commonly Operated Machine Particularly Used for Trade Education and Research
  • 3- Common Operations Made Possible Under Technical Engineering Research
  • 4- Common Oriented Machine Particularly Used for Trade Education and Research
  • 5- Common Oriented Manipulation Programming Used in Technology Education and Research

कम्प्यूटर के मुख्य भाग

कम्प्यूटर दो भागों से मिल कर बना होता है Hardware और software

Hardware – हार्डवेयर

कम्प्यूटर का वह भाग जिसे हम पकड़ व छू सकते है अर्थात एक वस्तु जिसका एक भौतिक आकार होता है उसे हम Hardware कहते है, जैसे keyboard, Mouse, Printer, Micro processor, Monitor, आदि

Software- सॉफ़्टवेयर

सॉफ़्टवेयर निर्देशो और प्रोग्राम्स का एक समूह होता है जो कम्प्यूटर को किसी भी विशेष कार्य को करने का निर्देश देता है यह उपयोगकर्ता यानी कि हमें कम्प्यूटर पर काम करने की क्षमता प्रदान करता है। सॉफ़्टवेयर को हम छू नहीं सकते है उसे केवल हम कम्प्यूटर स्क्रीन पर कार्य करते हुए देख सकते है। सॉफ़्टवेयर के बिना कोई भी हार्डवेयर अपना कार्य नहीं कर सकता है

How computer works in Hindi-कम्प्यूटर कैसे काम करता है।

कम्प्यूटर काम करने के लिए तीन चरणों का पालन करता है 1-Input, 2-Processing, 3-Output

सबसे पहले कम्प्यूटर उपयोगकर्ता द्वारा दिए गए Input से Data को ग्रहण करता है और दिए गए Input Data के आधार पर उस data को प्रासेसिंग कर के Output के रूप में प्रदान करता है

इनपुट (Input)– इनपुट वह इकाई है जिसमें उपयोगकर्ता द्वारा कुछ निर्देशो या Data को कम्प्यूटर में data के रूप में दिया जाता है input देने के लिए इनपुट डिवाइस का उपयोग किया जाता है जैसे माउस, कीबोर्ड

प्रासेसिंग (Processing)– इनपुट डिवाइस से प्राप्त हुए Data को CPU की सहायता से प्रॉसेस किया जाता है सीपीयू का काम निर्देशो को प्रॉसेस करना या calculation करना होता है इनपुट Data पर कार्य पूरा हो जाने के बाद सीपीयू अपने परिणाम को storage और output devices के साथ संचार करता है।

आउटपुट (Output) – Data प्रॉसेस होने के बाद Output डिवाइस के माध्यम से आपको आउटपुट दिया जाता है सरल शब्दों में Output प्रासेसिंग के बाद मिलने बाला रिज़ल्ट होता है यह रिज़ल्ट आपको एक चित्र के रूप में स्क्रीन पर प्रदर्शित हो सकता है, प्रिंटर से इसकी एक कापी ले सकते है, स्पीकर से ध्वनि सुन सकते है।

स्टोरेज (Storage)– कम्प्यूटर द्वारा प्राप्त परिणामों या Data को सुरक्षित रखने के लिए Storage device का उपयोग किया जाता है ताकि सुरक्षित किए गए Data को भविष्य में काम में लिया जा सके। जैसे की हार्ड डिस्क ड्राइव (HDD), सॉलिड स्टेट ड्राइव (SDD), USB

Types of computer in hindi – कम्प्यूटर के प्रकार

तकनीक या कार्य पद्धति के आधार पर

तकनीक या कार्य पद्धति के आधार पर कम्प्यूटर को 3 भागों में बाँटा गया है।

एनालॉग (Analog)- एनालॉग कम्प्यूटर दबाब, तापमान, लम्बाई ऊँचाई, गति आदि भौतिक राशियों को मापने के काम में लिया जाता है उसे एनालॉग कम्प्यूटर कहते है। वास्तविक जीवन में आपने कई बार एनालॉग कम्प्यूटर का उपयोग किया होगा जैसे- Thermometer (थर्मामीटर), Speedometer (स्पीडोमीटर), Analogue Clock (एनालॉग घड़ी), Voltmeter (वाल्टमीटर) एनॉलॉग कंप्यूटर मुख्य रूप से विज्ञान एवं इंजिनियरिंग के क्षेत्र में प्रयोग किये जाते हैं, क्योंकि इन क्षेत्रों में मात्राओं का उपयोग अधिक होता है।

Digital computer (डिजिटल computer)– Digital computer बायनरी (binary) अंक 0 और 1 पर कार्य करते है यह वही कम्प्यूटर है जो हम और आप लोग इसका इंस्तेमाल करते है डिजिटल कम्प्यूटर का उपयोग दुनिया भर में सबसे ज़्यादा किया जाता है यह कम्प्यूटर किसी भी Data को मशीनी भाषा में बदल कर प्रॉसेस करती है और Output में result प्रदान करती है। Digital Computer के उदाहरण – Desktop, Laptop, Mobile, Calculator, Digital clocks,

Hybrid Computer (हाइब्रिड कंप्यूटर) – हाइब्रिड कंप्यूटर एनालॉग कम्प्यूटर और डिजिटल कम्प्यूटर दोनों से मिलकर बना होता है जिसमें एनालॉग कम्प्यूटर दबाब, तापमान, लम्बाई ऊँचाई, गति जैसे भौतिक राशियों को नापता है और डिजिटल computer एनालॉग कम्प्यूटर से मिले गए Data को प्रॉसेस कर के दिखाता है। जैसे Gasoline Station (पेट्रोल पम्प), Ultrasound Machine (अल्ट्रासाउंड मशीन), हॉस्पिटल में मरीज़ के लिए Monitoring Machine,

आकार व क्षमता के आधार पर

माइक्रो कम्प्यूटर (Micro Computer)– यह वही कम्प्यूटर होते है जिन्हें अक्सर हम और आप लोग यूज करते है यह इतने छोटे होते है कि इन्हें हम कही भी ले जा सकते है या घर पर टेबल पर रख कर इसका इस्तमाल करते है यह कम्प्यूटर ज़्यादातर स्कूल, कॉलेज, ऑफ़िस, में कम्प्यूटर सिखाने या ऑफ़िस का काम करने के लिए इस्तमाल में लिया जाता है इन कम्प्यूटर में माइक्रो प्रासेसर का प्रयोग किया जाता है इस लिए इसे हम माइक्रो कम्प्यूटर कहते है जैसे- Desktop, Laptop, नोटबुक आदि

मिनी कंप्यूटर (Mini Computer)– मिनी कम्प्यूटर का आकार माइक्रो कम्प्यूटर के बराबर ही होता है।यह एक Multi user system होता है मतलब इस system पर एक साथ कई user काम कर सकते है। यह computer ज़्यादातर उस जगह पाया जाता है जहाँ काम करने बाले लोगों की संख्या ज़्यादा होती है इस सिस्टम को ऑफ़िस में एक जगह देख पर रख दिया जाता है और इस सिस्टम से कई और Client computers को जोड़ दिया जाता है। मिनी कम्प्यूटर की कार्य करने की क्षमता माइक्रो कम्प्यूटर से बहुत अधिक होती है माइक्रो कम्प्यूटर का प्रयोग बैंक, फ़ैक्टरी, ऑफ़िस, आदि जगह पर किया जाता है।

मेनफ़्रेम कम्प्यूटर (MainFrame Computer)– यह आकार में बहुत बड़े होते है और इनकी स्टोरेज क्षमता भी आधिक होती है, इनका प्रयोग बड़ी बड़ी कम्पनी में सेंट्रलाइज कंप्यूटर सिस्टम के रूप में किया जाता है यह चौबीसों घंटे कार्य करने में सक्षम होते है और इस सिस्टम पर लगभग एक साथ सैकड़ों यूज़र काम कर सकते है।

सुपर कंप्यूटर (Super Computer)- सुपर कम्प्यूटर दुनियाँ का सबसे तेज़ और शक्तिशाली कम्प्यूटर है यह Data को बहुत तेज़ी से प्रॉसेस कर सकता है सुपर कंप्यूटर की काम करने की गति को MIPS के बजाय FLOPS (floating-point operations per second) में मापा जाता है। सुपर कंप्यूटर में हजारों प्रोसेसर होते हैं, जो प्रति सेकंड अरबों और खरबों की गणना कर सकते हैं, या आप कह सकते हैं कि सुपर कंप्यूटर FLOPS के लगभग सौ क्वैडिल तक पहुंचा सकते हैं

कम्प्यूटर स्पीड कैसे बढ़ाएँ

उम्मीद है कि आपको Computer meaning, Computer full form in Hindi आदि के बारे में जानकारी मिल गई होगी ऐसी ही कम्प्यूटर और टेक्नॉलजी से सम्बंधित जानकारी लेने के लिए इस website पर बने रहिए और अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिए।

Techcalculation
Techcalculation

Techcalculation.com एक हिंदी ब्लॉग है इस ब्लॉग पर आपको टेक्नॉलजी, कम्प्यूटर, Internet और एजुकेशन से सम्बंधित जानकारी हिंदी में मिलती है

Articles: 38

Leave a Reply

Your email address will not be published.