About this website

Techcalculation एक हिंदी ब्लॉग है इस ब्लॉग पर आपको Computer, Internet, Mobile और अन्य सभी Technology के बारे में जानकारी हिंदी में मिलती है।

Cryptography in hindi | क्रिप्टोग्राफी क्या है

आज कल सभी लोग Internet चलाते है लगभग सारे काम अब Internet से ही हो रहे है पर क्या आपने कभी सोचा है की हम सब Internet चलाते है Internet पर अपना Data store कर के रखते है  अपनी कोई Facebook ID , Mail ID ये सब Internet पर ही store रहता है पर  क्या कभी आपने सोचा है की जिस जगह आपकी ID और Password store है उस Data base को कोई Hack कर ले और आपकी ID और password पता कर ले तो क्या होगा अगर आपका Data किसी के हाथ लग गया तो वह कोई भी गलत काम कर सकता है इस लिए Internet पर आपके Data को सुरक्षित रखने के लिए Cryptography की जाती है । तो आज इस पोस्ट में हम जनेगे क्रिप्टोग्राफी क्या होती है (What is Cryptograph hindi)

क्रिप्टोग्राफी क्या होती है (What is Cryptography hindi)

क्रिप्टोग्राफी क्या होती है (What is Cryptography hindi) Cryptography का मतलब Hidden Secrets होता है । इस से हम अपनी Information या Data को सुरक्षित रख सकते है।  Cryptography के जरिये हम अपने डाटा को Unreadable Secrete Code में बदल सकते है। Encryption और Decryption होता है Encryption हमारे डाटा को Secrete code में बदलता है  जिसे Cipher Text कहा जाता है इस Data को वही पढ़ व समझ सकता है जिसके पास इसको Decrypt करने की Secrete Key होती है Decrypt हुये डाटा को हम Plain Text कहते है  और Encrypt डाटा को हम Cipher Text कहते है ।

Plain text को Cipher text Cryptography में कैसे बदलते है ।

Caesar Cipher Cryptograph hindi

Caesar Cipher को Shift cipher या Caesar code भी कहते है । यह सबसे पुरानी और सरल Encryption है । इस तकनीक में Plain text के प्रत्येक Letter को दूसरे Letter के साथ Fix position पर replace कर देते है । जैसे Shift 1 के साथ हम A को B, B को C , C को D और ऐसे ही हम सारे Letters को ऐसे ही लिखेंगे इसमें Shift 1  Secrete key हो जाएगी। ऐसे ही हम कोई भी text को अपनी Key बना कर Cipher Text में Encrypt कर सकते है

एक उदाहरण 1:

Plain Text :- Techcalculation

Shift 1 (Key)

Cipher Text :- Ufdidbmdvmbujo

उदाहरण 2:

Plain Text :- Techcalculation

Shift 5 (Key)

Cipher Text :- yjhmhfqhzqfyns

उदाहरण 3:

Plain Text :- Techcalculation

Shift -1 (Key)

Cipher Text :- sdbgbzkbtkzshm

Vigenere cipher Cryptography hindi

यह Encryption का एक ऐसा Method है जिसमें User अपने डाटा को encrypt करने के लिए एक Key देता है और Plain Text के साथ Key को बार- बार लिखते जाते है और उस Key से Vigenere table के हिसाब से Data encrypt होता है जैसे में Techcalculation को Vigenere cipher method से encrypt करूंगा तो में इसके लिए एक Key बना देता हूँ वह की Lock है अब इस Secrete की से ही मेरा डाटा Encrypt और Decrypt होगा । Vigenere cipher Encryption की table देखिये ।

Cryptography
Cryptography

Plain Text को Encrypt करने के लिए बनाई Key के साथ एक Particular Alphabet होता है उसे ही Encryption में use किया जाता है । जैसे Plain Text का पहला अक्षर T है और Key का पहला अक्षर L है तो Table में T और L की Indexing देखें तो E आया और Plain text का दूसरा अक्षर E है और Key का दूसरा अक्षर O है तो Table में E और O की indexing में S मिला तो इस तरह सारे Plain text को key के साथ Indexing करने से cipher text “ESERNONMFZCDTCP” मिला और यह एक encrypt word बन गया ।

Hashing

इस Method में आपके Data, Information या Password को Encrypt करने के लिए एक ही Key का use होता है उस key से या कोई और key से हम उस Data को Decrypt नहीं कर सकते है जहां किसी और Method में हम एक Key से Data को Encrypt और Decrypt कर लेते है पर Hashing में ऐसा नहीं होता है Hashing method से Encrypt किए Data को कोई भी Decrypt नहीं कर सकता है यहाँ तक की वह key खुद भी Data को Decrypt नहीं कर सकती है जब हम अपने Password  को Hashing से Encrypt करते है तो हमारे password की length कितनी भी बड़ी हो पर Hashing की length एक जैसी ही रहती है अगर हमने Input में सिर्फ एक ही Letter दिया है फिर भी Hashing की length Fix ही रहेगी । अगर अपने Input में अगर एक भी Letter बदला है तो पूरी Hashing value बदल जाएगी

इस link पर Click कर आप Hashing को Try कर सकते है ।

Method of Encryption

Symmetric encryption

इस method में Encryption और Decryption के लिए एक ही Key का use किया जाता है सरल भाषा में आपके पास एक ताला है जिसकी दो चाबी है एक आपके पास है और दूसरी आपके भाई या दोस्त के पास है तो उस ताले को किसी भी चाबी से खोला और बंद किया जा सकता है ।

Asymmetric Encryption

इस Method में Encryption के लिए अलग Key और Decryption के लिए अलग की होती है सरल भाषा में आपके पास एक ताला है जिसे लगाने के लिए आपके पास एक key है पर उस key से आप ताले को खोल नहीं सकते है ताले को खोलने के लिए आपको दूसरी Key का use करना पड़ेगा मतलब Encryption एक लिए एक अलग Key और Decryption के लिए एक अलग Key । तो इसमें एक Public key होती है और दूसरी Private key होती है जब हम किसी को कोई भी Message भेजते है तो एक दूसरे को अपनी Public key दे देते है मान लीजिये आपका एक दोस्त है तो अपने उसे अपनी एक Public key दे दी है और आपके दोस्त ने आपको अपनी Public Key दे दी है तो जब भी आप उसे कोई message भेजेंगे तो उसकी Key से Message को Encrypt कर के भेजेंगे और आपके दोस्त के पास जो दूसरी की है वह उस से Message को Decrypt कर लेगा । अब अगर आपके दोस्त को भी यही काम करता है तो वह आपकी Key से Message को Encrypt कर के भेजेगा और आप अपनी दूसरी key से उस message को Decrypt कर लेंगे तो जिस key को हम share करते है वह Public key होती है और जो key हमारे पास होती है उसे Private Key कहते है ।

मुझे पूरी आशा है कि आप लोगों को  क्रिप्टोग्राफी क्या होती है (What is Cryptography hindi) इसके बारे में समझ आ गया होगा। अगर आपको यह Post अच्छी लगी तो आप सभी से गुजारिश है कि आप लोग इस जानकारी को अपने दोस्तों, रिश्तेदारों, के साथ share करें, जिससे कि हमारे बीच जागरूकता होगी और ज्ञान बढ़ेगा। अगर आप लोगों को किसी भी तरह का Doubt है तो आप मुझे बेझिजक comment कर के पूछ सकते है। में पूरी कोशिश करूंगा कि आपके सवाल का जवाब दे सकूँ। और इस post को पूरा पढ़ने के लिए धन्यवाद।  

Techcalculation
Techcalculation

Techcalculation.com एक हिंदी ब्लॉग है इस ब्लॉग पर आपको टेक्नॉलजी, कम्प्यूटर, Internet और एजुकेशन से सम्बंधित जानकारी हिंदी में मिलती है

Articles: 38

Leave a Reply

Your email address will not be published.