About this website

Techcalculation एक हिंदी ब्लॉग है इस ब्लॉग पर आपको Computer, Internet, Mobile और अन्य सभी Technology के बारे में जानकारी हिंदी में मिलती है।

Difference between data and information

अकसर सभी के मन में यह सवाल जरूर आता होगा कि Data और Information क्या है कुछ लोग सोचते है के Data और Information एक समान होते है पर आज इस पोस्ट में हम Data और Information को समझने की कोशिश करेंगे और इनके बीच क्या-क्या अंतर होते है तो आज इस post को पढ़ कर आपको Data और Information के बारे में सही जानकारी मिल जाएगी ।

Data और Information क्या है ।

सबसे पहले हम समझते है कि Data क्या होता है आप किसी भी व्यवसाय से हो आपने यह शब्द कई बार सुना होगा और इस शब्द का इस्तेमाल भी किया होगा। जो Data हम internet चलाने में खर्च करते है या जो Data हम अपने Phone और Computer में store करते है यह भी Data होता है पर Data सिर्फ Computer से सम्बंधित शब्द नहीं है । Data plain facts को भी कहा जाता है Data शब्द Datum का Plural (बहुवचन) है Data का मतलब तथ्य होता है और यह किसी भी तरह का हो सकता है जैसे कोई नाम (Neha, Rahul), शब्द (Computer, Internet) नंबर, (34, 23.50, 664,1000) और symbols(@,%,&,#,!) और इन्हीं तथ्यों को एकजुट करके analyze करके Information बनाया जाता है । अगर सीधे शब्दों में कहा जाये तो Data को मिला कर या process कर के Information को बनाया जाता है । इसे हम एक उदाहरण से समझते है यहाँ  मैंने एक Data दिया है 281090, और यह एक Data Numbers में है पर इस Data को देख कर हमें किसी भी तरह कि Information (जानकारी) नहीं मिल रही है अब इस Data को हम Process करते है और इसके बीच में एक symbol का इस्तेमाल करते है 28/10/92, अब हमें यह समझ आ गया है कि यह एक Date है पर अभी भी हमें इस से पूरी जानकारी नहीं मिली है क्यूकी हम इतनी जानकारी ये यह पता नहीं लगा सकते है कि यह Date किस चीज है यह किसी की Date of Birth हो सकती है, किसी की Date of Death हो सकती है या किसी कि Date of Joining हो सकती है इस Data से जानकारी लेने के लिए हमें इस data को तब तक processed करना पड़ेगा कि जब तक हमें पूरी जानकारी नहीं मिल जाती जैसे कि अब इसे processed करते है और बताते है कि यह एक Date of Birth है पर अभी भी हमें पूरी जानकारी नहीं मिली है क्यूकी अब हमें यह पता नहीं है कि यह Date of birth किसकी है तो पूरी जानकारी देने के लिए मुझे बताना पड़ेगा कि यह मेरी Date of birth है । इसी तरह हम एक और उदाहरण लेते है जैसे यह एक Data है 120820 अब इसे हम किसी और Data के साथ process करते है जैसे 12/08/20 (Date), 12:08:20 (Time), 1,20,820 (Money, Price) . तो अब शायद आपको समझ आ गया होगा की Data और Information क्या होता है । Information वह Data होता है । जिसे Process किया जाता है जिससे उपयोगकर्ता को कुछ उपयोगी जानकारी मिल सके । या फिर Process किए गए Data को हम Information कहते है ।

Data और Information में अंतर।

Data एक तरह का Raw Data होगा जिसे Process नहीं किया जाता है । पर Process किए गए Data को Information कहते है ।

Data को computer में Input देने के लिए प्रयोग किया जाता है और User को मिले Output को Information कहते है ।

Data Information पर कभी निर्भर नहीं रहता है पर Information हमेशा Data पर निर्भर होता है।

Data एक Sigle unit, Character, या digit में हो सकता है । बल्कि Information Data के समूह से मिलकर बनती है ।

अगर हम Data को देखे तो Data का कोई अर्थ नहीं होता है हम उसे समझ नहीं सकते है पर Information को हम आसानी से समझ सकते है ।

Data को Bit और Byte में मापा जाता है और Information को अर्थपूर्ण इकाइयों में मापा जाता है जैसे Time, quantity.

Data का उपयोग निर्णय लेने के लिए नहीं किया जा सकता है जबकि Information को निर्णय लेने के उपयोग किया जा सकता है ।

DIKW (Data, information, knowledge, and wisdom)

यह एक Model है इसे हम DIKW पिरामिड कहते है जिसे Data और Information की चर्चा के लिए उपयोग किया जाता है इस पिरामिड से हम Data और Information को अच्छी तरह से समझ सकते है इस पिरामिड में Blocks बने होते है और पहला Block Data को दर्शाता है । और दूसरा Block Information का होता है और ऐसी ही तीसरा और चौथा Block Knowledge और Wisdom को दिखाता है। प्रत्येक Block Data के बारे में विस्तृत उत्तर देता है । प्रत्येक Blok में हम डाटा को जीतने अर्थ और संदर्भ के  साथ दिखाते है । उतनी ही अधिक सटीक और सही जानकारी हमें मिलती है ।

नीचे दिये गए पिरामिड में आप देख सकते है कि हमें Data से किस तरह से जानकारी मिली है ।

Data  Information

Data processing क्या है ।

चलिए अब जानते है कि Data Processing क्या होता है । Data Processing उसे कहते है जब Raw data या कच्चे डाटा को इकट्ठा कर के उसमें से उपयोग करने लायक जरूरी जानकारी को निकाला जाता है इस काम को करने के लिए हम किसी भी तरीके का इस्तेमाल कर सकते है पर Data बहुत ज्यादा होने की वजह से और समय बचाने के लिए computer का इस्तेमाल कर के Data processing की जाती है । आमतौर पर यह काम Data scientist द्वारा किया जाता है अगर Data processing को सही ढंग से नहीं किया जाता तो उपयोगकर्ता को output में मिली जानकारी नकारात्मक और गलत हो सकती है । इस लिए Data processing को सही ढंग से करना महत्वपूर्ण हो जाता है ।

Data Processing steps

कच्चे डाटा (Row data) को पढ़ने योग्य बनाने के लिए या Data processing करने के लिए कुछ steps को follow किया जाता तो चलिये अब Data Processing के steps को details में जानते है ।

1- Collection

Data processing करने के लिए यह सबसे पहले कदम है जैसे कि हमें नाम से पता चलता है “Collection” तो इसमें Data को अलग- अलग sources से इकट्ठा किया जाता है । जैसे Hospitals, School, Colleges, और आपने देखा होगा कि जनगणना में घर-घर जा कर Data collect किया जाता है कि घर में कितने सदस्य है कितने Male और Female है कितने लोग Educated और Uneducated है। और Collect किए गए Data में यह जरूरी होता है कि Data सही और भरोसेमंद हो और अच्छी तरह से इसे बनाया गया हो जिससे बाद में Data processing के बाद उपयोगकर्ता को इसी अच्छी गुणवत्ता मिल सके ।

2- Data preparation

एक बार Data Collect हो जाने के बाद अब Data Preparation step होता है । जिसमें Raw data को साफ और व्यवस्थित किया जाता है । इस step में यह जांच की जाती है कि Data में किसी प्रकार की त्रुटि तो नहीं है अगर Data में किसी प्रकार कि त्रुटि मिलती है या जिस Data कि जरूरत नहीं होती है उस Data को खत्म कर दिया जाता है ।

3- Data Input

अब इस प्रक्रिया में साफ किए गए Data या जरूरतमंद data को Input के लिए store किया जाता है इसे Store करने के हम Pen & Paper का इस्तेमाल भी कर सकते है पर समय और त्रुटि से बचने के लिए Computer का इस्तेमाल किया जाता है ।

4- Processing

इस Step में Data को Information बनाने की प्रक्रिया को किया जाता है । इसमें Data को Process करने के लिए मशीन लर्निंग एल्गोरिदम का उपयोग किया जाता है इस प्रक्रिया में, डेटा को समूह और उपसमूह में अलग- अलग बांटा जाता है । और एक Order में arrange करके रखा जाता है हालांकि Data source जहां से Data collect किया गया है उस आधार पर यह Processing थोड़ी भिन्न हो सकती है।

5- Data output

अब आखिर में Output stage में Data पूरी तरह से उपयोग करने योग्य हो गया है अब इस Data को उपयोगकर्ता आसानी से पढ़ और समझ सकता है । और इस Data को Graph, Video, Image, और Text के रूप में उपयोगकर्ता को पेश किया जाता है । और अब इस Data का उपयोग कभी भी किया जा सकता है ।

6- Data storage

Data Processing की सारी प्रक्रिया होने के बाद Data storage आखिरी प्रक्रिया बचती है इसमें Process किए गए data से निकली गई Information को भविष्य में उपयोग करने के लिए Data storage Device में संग्रहीत किया जाता है। पर कुछ Information को तुरंत उपयोग करने के लिए दे दिया जाता है । लेकिन इसका अधिकांश हिस्सा बाद में किसी उद्देश्य से उपयोग करने के लिए save कर लिया जाता है । साथ ही, GDPR (General Data Protection Regulation) जैसे डाटा सुरक्षा कानून के अनुपालन के लिए Data को सही तरीके से संग्रहित करना आवश्यक है । जिससे भविष्य में कभी भी इस Information की जरूरत होने पर इसे आसानी से access किया जा सके ।

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है पूरी जानकारी।

What is Encryption and decryption

मुझे पूरी आशा है कि आप लोगों को Data और Information क्या है इसके बारे में समझ आ गया होगा । अगर आपको यह Post अच्छी लगी तो आप सभी से गुजारिश है कि आप लोग इस जानकारी को अपने दोस्तों, रिश्तेदारों, के साथ share करें , जिससे कि हमारे बीच जागरूकता होगी और ज्ञान बढ़ेगा । अगर आप लोगों को किसी भी तरह का Doubt है तो आप मुझे बेझिझक comment कर के पूछ सकते है । में पूरी कोशिश करूंगा कि आपके सवाल का जवाब दे सकूँ । और इस post को पूरा पढ़ने के लिए धन्यवाद । 

Techcalculation
Techcalculation

Techcalculation.com एक हिंदी ब्लॉग है इस ब्लॉग पर आपको टेक्नॉलजी, कम्प्यूटर, Internet और एजुकेशन से सम्बंधित जानकारी हिंदी में मिलती है

Articles: 38

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.