About this website

Techcalculation एक हिंदी ब्लॉग है इस ब्लॉग पर आपको Computer, Internet, Mobile और अन्य सभी Technology के बारे में जानकारी हिंदी में मिलती है।

Tor Browser क्या है| कैसे इस्तमाल करते है।

आज इंटरनेट हमारे लिए कितना जरूरी है आज के समय में लगभग सारे काम Internet से ही होते है । हम internet पर कुछ भी सर्च करते है या किसी भी website पर visit करते है तो हमें ऐसा लगता है कि जो भी हम internet पर सर्च करते है या कोई भी website visit करते है तो इसे हमारे अलावा कोई नहीं जनता कि हम internet पर क्या करते है । क्या क्या देखते है क्या क्या सर्च करते है पर हकीकत यह है कि आप जो भी इंटरनेट पर करते है वह कुछ भी नहीं छुपा है भले ही आप अपने घर के सदस्य और अपने दोस्तों से छुपा सकते है पर Government और आपका Internet service provider हमेसा आप पर नजर रखे होते है कि आप Internet पर क्या क्या करते है । इसके बारे मे और अधिक जानने के इस लिंक पर click करें। अब अगर आप चाहते है कि आप Internet पर जो भी करते है वह किसी को पता न चले और आपकी Privacy पूरी तरह से सुरक्षित रखना चाहते है तो उसके लिए आप Tor Browser का इस्तमाल कर सकते है Tor Browser के इस्तमाल आप अपनी पहचान छुपा सकते है। तो चलिए जानते है टोर ब्राउज़र के बारे में ।

Tor Browser क्या है।

आप Chrome और Mozilla Firefox जैसे कई browser को जानते होते और उन पर Internet को चलाते भी होगे तो Tor browser भी internet browsing के लिए होता है यह एक फ्री और Open source software है पर फर्क इतना होता है । कि इसमे user अपने पहचान छुपा कर गोपनियता से Internet चला सकता है । Tor का पूरा नाम The Onion Router है यह Onion routing की तकनीक का इस्तमाल करता है जिसकी मदद से users की सभी online activity को गोपनीय रखा जाता है । टोर ब्राउज़र के बारे में लोगों को गलत फहमी होती है कि इस Browser का इस्तमाल गलत कामों के लिए किया जाता है । जैसे कि Hacking, Cyber Crime. टोर ब्राउज़र एक Gate way या द्वार है जिसके जरिये हम Deep web या Dark web को access कर सकते है Deep और Dark web Internet की एक रहस्यमय दुनिया है Google पर हम हो भी search करते है वह Internet की surface layer पर मिलता है पर जिसे google पर नहीं खोजा जा सकता उसे हम Deep web या Dark web कहते है इसके बारे में और जानने के लिए आप इस लिंक पर click कर सकते है ।

Tor Browser के इस्तेमाल  से आप गोपनीय तरीके से Internet browse कर सकते है । अगर आप सरकार या किसी नेता के विरोध में Internet पर research कर रहे है तो आपके लिए टोर ब्राउज़र एक अच्छा विकल्प हो सकता है । टोर ब्राउज़र का इस्तमाल मुख्य रूप से वह लोग करते है तो किसी सरकार व किसी संस्था का खुलासा करते है । जो अपनी पहचान छुपा कर लोगों को सच दिखाते है । आपने कभी Edward Snowden का नाम तो सुना होगा जिसने American Government के बारे कुछ secrets public में उजागर किए थे । और माना जाता है की वह Tor Browser का इस्तेमाल करता था ।

Tor Browser

टोर ब्राउज़र कैसे काम करता है

सबसे पहले हम जान लेते है Internet का सारा Data जहां store होता है उसे server कहते है और उस Data को access करने वाली Device को Clint कहते है । जब भी हम किसी और Browser जैसे Chrome, Mozilla Firefox पर Internet access करते है तो ISP से हो कर server और Clint के बीच direct Communication होता है । आपके ISP (Internet server provider ) को पता होता है की आप  कोन-कोन  सी website पर visit करते है पर Tor Browser onion routing principle पर काम करता है । (जिस तरह से एक Onion में काफी layers होती है) जिसमें सबसे पहले user Data को Encrypt किया जाता है फिर आपकी Request को अलग-अलग IP से हो कर transfer किया जाता है और server तक पहुंचाया जाता है । Tor का खुद का एक Network होता है जहां User की request को अलग-अलग server से हो कर Destination server तक पहुंचाया जाता है । उदाहरण के लिए मान लेते है कि आप टोर ब्राउज़र पर Facebook search करते है तो सबसे पहले यह Request जापान के server पर जाएगी उसके बाद जापान का server उस request को US (United states) के server पर भेज देगा उसके बाद आपकी request ऑस्ट्रेलिया के server पर जाएगी पर यहाँ आपकी request encrypted होगी जिस से किसी भी server को यह पता नहीं चलता कि आप क्या search कर रहे है और क्या देख रहे है । और इन servers को हम Nodes कहते है । पर जिस आखिरी Node पर आपकी Request जाती है वह आपके Data को read कर सकता है उस आखिरी Node को पता होता है की user क्या देखना चाहता है पर आखिरी Node को Exit Node कहा जाता है और Exit Node आपकी Identity को trace नहीं कर सकता वह आपके बारे में कुछ नहीं जानता तो यह Data ज्यादा Value नहीं रखता है ।

जैसा की मैंने पहले कहा था की Tor Browser से हम Deep web और Dark web को access करते है पर dark web तक पहुंचाना सामान्य व्यक्ति के लिए मुमकिन नहीं है । Dark web की कुछ website होती है जो कि Chrome, Mozilla Firefox जैसे अन्य Browser पर access नहीं की जा सकती उन website को access करने के लिए Tor browser की जरूरत होती है जहां clean web या surface web की website के पीछे .com, .net, .org लगा होता है (www.yourwebsite.com)और Dark web की website के पीछे .onion लगा होता है (www.yourwebsite.onion) Dark web की website ने नाम याद रख पाना बहुत मुसकिल होता है क्यूकि यह नाम बहुत बड़े होते है और जिनका कोई अर्थ नहीं बनाता इसके साथ- साथ नाम में अंको को भी शामिल किया जाता है ।

टोर ब्राउज़र का इस्तमाल कैसे करें ।

सबसे पहले आपको टोर ब्राउज़र को Download करना होगा Download करने के लिए आप google पर Tor download search कीजिये या फिर आप इस link पर जा कर आप अपने operating system के हिसाब से  Tor को download कर लीजिये । और Normal software के जैसे Install कर लीजिये पर यह Normal programs की तरह Programs files में Install नहीं होता है यह एक portable browser है इसलिए यह Desktop पर Download होता है अगर आप चाहें तो इसकी location बदल सकते है पर Install करने के बाद Desktop पर आपको टोर ब्राउज़र के साथ एक टोर ब्राउज़र का folder और देखने को मिलेगा अगर आप ने उसे delete कर दिया तो आपका टोर ब्राउज़र  Uninstall हो जाएगा इस लिए उस Folder के साथ कोई भी छेड़ खानी न करें । इसके बाद जब आप अपने Browser को Open करते है तो यह अपने server से connect होता है अगर ऐसा नहीं होता तो आप Manually जा कर Connect पर click कर के इसे Server से connect कर सकते है । Connect हो जाने के बाद आप  इस पर Browsing कर सकते है ।

Android Phone पर Tor को आप Google play store से download कर सकते है या फिर आप इस Download लिंक पर जा कर अपने फोन के लिए Tor को download कर सकते है ।

टोर ब्राउज़र के फायदे और नुकसान

Tor Browser हमारी Privacy को पूरी तरह से सुरक्षित रखता है और हमारी पहचान को छुपा कर रखता है इस लिए Hackers और Cyber Criminal Tor Browser का इस्तमाल करते है क्यूकि यहाँ Hackers अपनी पहचान छुपा कर कोई भी Illegal काम कर सकते और उन्हें Track कर के पकड़ना बहुत मुसकिल हो जाता है पर Tor Browser को इस्तेमाल करने की कुछ कमियाँ भी है जैसे कि Tor Browser पर Data अलग -अलग server से हो कर हमारे पास तक पहुंचता है इस लिए इसकी Speed slow होती है । इसके बाद आपके Internet Service provider को पता होता है कि अपने कितनी देर Tor browser का इस्तमाल किया है  पर आपका ISP यह पता नहीं कर सकता कि आपने Tor Browser पर क्या- क्या search किया है कोन- कोन सी website पर visit किया है ।

क्या टोर ब्राउज़र का इस्तमाल करना Illegal है ?

अगर आप अपनी Privacy को ले कर काफी serious है तो आप anonymous रहने के लिए Tor Browser का इस्तमाल कर सकते है पर बहुत से देशों में Tor Browser के इस्तमाल पर Ban लगा हुआ है अगर आप सोच रहे है कि Tor Browser पर आपकी privacy सुरक्षित रहती है इस लिए आज से आप Tor Browser का इस्तमाल करेंगे । पर हो सकता है अगर आप रोज दो से चार घंटे Tor browser पर Active रहते है तो आप शक के दायरे में आ जाए और  Government आप पर नजर रखने लग जाए और Government आप से पूछताछ कर सकती है । कि आप Tor Browser का इस्तमाल किस काम के लिए करते है ।  क्यूकि आपके ISP को पता रहता है कि आप Tor browser पर कितनी देर Active रहते है ।

IPv4 और IPv6 क्या है।

मुझे पूरी आशा है कि आप लोगों को Tor Browser क्या है और कैसे इस्तमाल करें इसके बारे में समझ आ गया होगा । आप सभी से गुजारिश है कि आप लोग इस जानकारी को अपने दोस्तों, रिश्तेदारों, के साथ share करें , जिससे कि हमारे बीच जागरूकता होगी और ज्ञान बढ़ेगा । अगर आप लोगों को किसी भी तरह का Doubt है तो आप मुझे बेझिझक comment कर के पूछ सकते है । में पूरी कोशिश करूंगा कि आपके सवाल का जवाब दे सकूँ । और इस post को पूरा पढ़ने के लिए धन्यवाद । 

Techcalculation
Techcalculation

Techcalculation.com एक हिंदी ब्लॉग है इस ब्लॉग पर आपको टेक्नॉलजी, कम्प्यूटर, Internet और एजुकेशन से सम्बंधित जानकारी हिंदी में मिलती है

Articles: 38

Leave a Reply

Your email address will not be published.