About this website

Techcalculation एक हिंदी ब्लॉग है इस ब्लॉग पर आपको Computer, Internet, Mobile और अन्य सभी Technology के बारे में जानकारी हिंदी में मिलती है।

PGDCA full form | PGDCA Course क्या है कैसे करें

आप सब जानते होंगे कि आज के समय में कम्प्यूटर शिक्षा होना कितना ज़रूरी हो गया है। हर क्षेत्र में कम्प्यूटर का उपयोग लिया जा रहा है जॉब इंटरव्यू में उम्मीदवार से पूछा जाता है कि उसे कम्प्यूटर के बारे में कितना ज्ञान है उन्हें कम्प्यूटर चलाना आता है या नहीं। और जब आपसे कम्प्यूटर सर्टिफ़िकेट देखाने के लिए कहा जाता है तो यदि ऐसे में आपके पास कम्प्यूटर का सर्टिफ़िकेट होता है तो आपको दूसरे लोगों की तुलना में आधिक महत्व दिया जाता है। इस लिए समय को देखते हुए हर स्टूडेंट को एक अच्छा सा कम्प्यूटर कोर्स कर लेना चाहिए इसलिए आज हम आपको बताएँगे कि PGDCA कोर्स किया है और इसका सिलेबस क्या है, इसे कैसे किया जा सकता है और इस कोर्स को करने का क्या महत्व है और साथ में PGDCA full form क्या होती है। तो चलिए देखते है।

PGDCA full form

PGDCA ka full form

PGDCA का फ़ुल फ़ॉर्म Post Graduate Diploma In Computer Application होता है

PGDCA full form in hindi

PGDCA का हिंदी में फ़ुल फ़ॉर्म कंप्यूटर अनुप्रयोगों में स्नातकोत्तर डिप्लोमा होता है।

PGDCA कोर्स क्या है।

PGDCA कोर्स Graduation के बाद करने वाला कम्प्यूटर कोर्स है इस कोर्स को ग्रैजूएशन के बाद किया जाता है इस कोर्स की आवधि एक साल की होती है इस एक साल के आवधि बाले कोर्स को 2 समेस्टर में बाँटा गया है जिनमें से एक समेस्टर 6 महीनों का होता है। इस कोर्स को करने के बाद आप सीधे MCA के दूसरे वर्ष में अड्मिशन ले सकते है।

PGDCA कोर्स ख़ासकर उन स्टूडेंट्स के लिए अच्छा साबित हो सकता है जो कम्प्यूटर विज्ञान में रुचि रखते है इस कोर्स में आपको वेब डेवलपमेंट, सॉफ़्टवेयर इंजीनियरिंग, नेटवर्किंग, कम्प्यूटर भाषा जैसे C,C++, HTML आदि के बारे में शिक्षा दी जाती है।

PGDCA कोर्स की योग्यता

इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको कुछ बातों को ध्यान देना होगा। इसके लिए कुछ न्यूनतम योग्यताएँ तय की गई है सबसे पहले आपको किसी भी क्षेत्र से ग्रैजूएट होना आवश्यक है। कुछ कॉलेज ऐसे है जो PGDCA कोर्स के लिए ग्रेजुएशन में मैथेमेटिक्स की मांग करते है पर ऐसे कॉलेज बहुत कम है।

इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए ग्रैजूएशन में काम से काम 50 प्रतिशत नंबर आवश्यक होते है पर कई कॉलेज आपको इस से कम नम्बर में एडमिशन दे देते है।

आयु के बारे में कोई भी नियम नहीं है इसके लिए आप जिस कॉलेज से इस कोर्स को करना चाहते है उस कॉलेज में बात कर के सही आयु के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है।

PGDCA कोर्स में Admission कैसे लें।

अगर आप ग्रैजूएशन के बाद इस कोर्स में Admission लेने की सोच रहे है तो इस कोर्स में Admisson लेने के दो तरीक़े हो सकते है पहला आप सीधे कॉलेज जा कर और फ़ॉर्म भर कर और ज़रूरी दस्तावेज़ जमा कर के एडमिशन ले सकते है इसे डायरेक्ट एडमिशन कहते है।

दूसरा तरीक़ा मेरिट के आधार पर इसके लिए आपको सबसे पहले फ़ॉर्म भर कर जमा करना होगा और ग्रैजूएशन में प्राप्त नम्बर के आधार पर मेरिट लिस्ट को जारी किया जाता है फिर आपको उस लिस्ट के हिसाब से एडमिशन दिया जाएगा।

PGDCA course Fees

इस कोर्स की सही-सही फ़ीस बताना अभी ठीक नहीं होगा क्यूँकि हर कॉलेज की फ़ीस उस कॉलेज के इंफ्रास्ट्रक्चर, फैकल्टी, स्टाफ, इत्यादि के ऊपर निर्भर करती है और अलग अलग हो सकती है

पर एक अच्छे कॉलेज की फ़ीस लगभग 1,00,000 रुपए तक हो सकती है। और फ़ीस के बारे में सही जानकारी आपको कॉलेज से पता चलेगी।

PGDCA Course Syllabus

PGDCA कोर्स की आवधि एक साल की होती है जिनमें से 2 सेमेस्टर होते है एक सेमेस्टर 6 महीनों का होता है और उन 2 सेमेस्टर के हिसाब से कोर्स के Syllabus को बाँटा गया है।

सेमेस्टर 1सेमेस्टर 2
ऑपरेटिंग सिस्टमसॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग
डेटाबेसमैनेजमेंट सिस्टमकंप्यूटर नेटवर्क
बेसिक कंप्यूटर प्रोग्रामिंगडेटा स्ट्रक्चर
बेसिक फाइनेंस मैनेजमेंटवेब प्रोग्रामिंग
कम्युनिकेशन स्किल्सऑब्जेक्ट ओइएन्टेड प्रोग्रामिंग

ऐसे विद्यार्थी जो ग्रैजूएशन के बाद एक अच्छी जॉब की तलास कर रहे है और जो कम्प्यूटर में रुचि रखता है और कम्प्यूटर विज्ञान से सम्बंधित जॉब करना चाहता है तो यह यह कोर्स करना उनके लिए अच्छा Option हो सकता है।

PGDCA Career पीजीडीसीए के बाद कैरियर

PGDCA करने के पश्चात कैरियर की बात की करें तो ग्रेजुएशन और PGDCA कोर्स करने बाले विद्यार्थी के लिए विभिन्न प्रकार के कैरियर विकल्प उपलब्ध होते है।

इस कोर्स को करने के बाद विद्यार्थी कम्प्यूटर से सम्बंधित उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए अन्य कोर्स भी कर सकता है। पर ज़्यादातर विद्यार्थी इस कोर्स को करने के बाद जॉब की तलास में रहते है।

अगर जॉब की बात की जाए तो भारत में PGDCA कोर्स से सम्बंधित विभिन्न प्रकार की नौकरियां उपलब्ध है। जैसे

  1. कंप्यूटर ऑपरेटर
  2. कंप्यूटर शिक्षक
  3. कंप्यूटर प्रोग्रामर
  4. सॉफ्टवेयर इंजीनियर
  5. डेटाबेस व्यवस्थापक
  6. मोबाइल एप्लिकेशन डेवलपर
  7. आवेदन पैकेजिंग प्रशासक
  8. कंप्यूटर एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर इंजीनियर
  9. नेटवर्क सिस्टम और डाटा संचार विश्लेषक
  10. एप्लिकेशन विशेषज्ञ
  11. कार्यालय सहायक / कम्प्यूटर ऑपरेटर

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है आपको PGDCA क्या है PGDCA full form और इस कोर्स को कैसे किया जाता है इसके बारे में जानकारी मिल गई होगी और आप अपने लिए या अपने किसी दोस्त को इसके बारे में जानकारी दे सकते है और अपने लिए एक अच्छे Career की शुरुआत कर सकते है। अगर इस पोस्ट से आपको कुछ जानकारी मिली है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिए।

lalit kushwaha
lalit kushwaha

Hello दोस्तों मेरा नाम ललित कुशवाह है में इस ब्लॉग का Admin और Author हूँ मुझे टेक्नॉलजी के बारे में पढ़ना और दूसरे लोगों को उसके बारे में बताना अच्छा लगता है इसलिए में इस ब्लॉग के माध्यम से आप सब लोगों को टेक्नॉलजी से सम्बंधित जानकारी हिंदी भाषा में देता हूँ। मुझे उम्मीद है की आप मुझे सपोर्ट करेंगे।

Articles: 10

Leave a Reply

Your email address will not be published.